अजब गजब

Never had money even to teach coaching to children, today providing employment to so many women – News18 हिंदी

आदित्य कृष्ण/अमेठी : अब नारी ना तो अबला है और ना ही कमजोर, महिलाओं के प्रति समाज की सोच बदलने लगी है. यह बदलाव महिलाओं के दृढ़ इच्छा शक्ति के बल पर आया है. यही कारण है कि महिलाएं आज अमेठी में महिला सशक्तिकरण की मिसाल बन चुकी हैं. जनपद अमेठी में एक महिला ने आज अपनी खास पहचान बनाई है. अपने खुद के रोजगार की शुरुआत कर महिला ने रोजगार के अवसर को हासिल कर अपनी खास पहचान बनाई.

हम बात कर रहे हैं आरती महिला स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष तपस्सुम बानो की. आज तपस्सुम एक सफल महिला है एक वक्त था कि तपस्सुम के पास बच्चों को कोचिंग पढ़ाने के भी पैसे नहीं हुआ करते थे और उन्हें काम की तलाश थी. लेकिन आज अपने खुद के रोजगार की शुरुआत कर उन्होंने अपनी किस्मत को बदला है. खराब साडियों से वह कई सामान तैयार करती हैं और अच्छा खासा मुनाफा भी कमा रही हैं. तप्पसुम बानो अमेठी जिले के बारीपुर की रहने वाली परास्नातक तक की पढाई के बाद जब उनको कोई रोजगार नहीं मिला तो उन्होंने समूह में जुड़ने की ठानी और आज समूह में जुड़कर उन्होंने अच्छा खासा मुनाफा कमा लिया.

घर बैठे सामान की हो जाती है बिक्री
तपस्सुम अपने समूह में दरी झालफोस, पायदान, झूमर, बैग, पर्स सहित अन्य सामान तैयार कर उसे बाजारों में बेचती हैं. आपको बता दें कि उनके सामान की बिक्री घर बैठे तो हो ही जाती है. बाजार में भी लगने वाली प्रदर्शनी में उन्हें बुलाया जाता है और वहां पर भी उनके बनाए सामानों की बिक्री होती है. उन्हें हजार से 2 हजार का फायदा प्रतिदिन होता है. समूह में तपस्सुम ने अपने साथ करीब 12 महिलाओं को जोड़ा है और वह भी छोटे-मोटे कम कर मुनाफा कमा रही है. खास बात यह कि उनके बने सामान इतने अच्छे होते हैं और इतने खूबसूरत होते हैं कि वह घरों की खूबसूरती में भी चार चांद लगाते.

पहले परिवार चलाना था मुश्किल
तपस्सुम ने बताया कि पहले काफी मुसीबत का सामना करना पड़ता था. घर पर खाली बैठकर पूरा समय बीत जाता था. पैसों की तंगी थी परिवार मुश्किल समय में था. बच्चों की फीस भरने के भी पैसे नहीं थे जब कहीं काम करते थे तो वहां पर भी लोग पैसे नहीं देते थे. तो इस तरह की समस्याएं झेलने के बाद समूह में जुड़ने का मन हुआ और फिर हम समूह में जुड़ गए पहले अपनी पहचान बनाने में कुछ समय लगा. लेकिन आज हम सफल हैं और आज हमें फायदा हो रहा है. उन्होंने अन्य महिलाओं को भी संदेश दिया कि वह भी हमारी तरह समूह में जुड़े और मुनाफा कमाए.

Tags: Amethi news, Local18, Success Story, UP news


Source link

एडवोकेट अरविन्द जैन

संपादक, बुंदेलखंड समाचार अधिमान्य पत्रकार मध्यप्रदेश शासन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!