खास खबरडेली न्यूज़मध्यप्रदेश

अब छतरपुर में ही होगा दिल का इलाज: खनिज मंत्री ने किया केन मेडिकल सेंटर का शुभारंभ

छतरपुर। हृदय रोग से पीड़ित मरीजों को अब छतरपुर में ही त्वरित इलाज मिल सकेगा जिससे असमय लोगों की जान नहीं जा सकेगी। प्रदेश के खनिज मंत्री ब्रजेन्द्र प्रताप सिंह ने रविवार को दोपहर लोकनाथपुरम में हृदय हुए डायबिटीज के रोगियों के लिए अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस केन मेडिकल सेंटर का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर छतरपुर विधायक आलोक चतुर्वेदी, जाने-माने सर्जन डॉ एमपीएन खरे, पन्ना के राजेंद्र सिंह भदौरिया अतिथि के तौर पर मौजूद थे।

मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित प्रदेश के खनिज मंत्री श्री सिंह ने कहा कि डॉक्टर को भगवान का रूप माना जाता है। यदि सही डायग्नोस न हो और डॉक्टर अनुभवी न हो तो ठीक इलाज न मिलने से मरीज की जान तक चली जाती है। इस बारे में उन्होंने अपना अनुभव शेयर करते हुए बताया कि उन्हें सीने में तकलीफ होने पर चिंतित होकर दिल्ली जाना पड़ा था लेकिन जांच में कुछ भी नहीं निकला था जबकि पन्ना में दो-तीन डॉक्टरों को दिखाने पर उन्होंने दवाइयों का लम्बा-चौड़ा पर्चा पकड़ा दिया था। इससे मरीज और घबड़ा जाता है तथा उसकी हालत बिगड़ जाती है। इस तरह अनुभवहीन डॉक्टरों के कारण मरीज जान तक गंवा देते हैं। बुंदेलखंड क्षेत्र में अच्छे हॉस्पिटल नहीं हैं ऐसे में तह हॉस्पिटल छतरपुर ही नहीं बुंदेलखंड के लिए बहुत बड़ी सौगात है।खनिज मंत्री ने छतरपुर में मेडिकल कॉलेज के भवन निर्माण के लिए हरसंभव प्रयास करने का भरोसा देते हुए बताया कि प्रदेश के श्रम मंत्री होने के नाते वे श्रमिकों के लिए ईएसआई हॉस्पिटल खुलवाने के लिए सतत प्रयासरत हैं।विधायक आलोक चतुर्वेदी ने कहा कि यह सेंटर खोलकर डॉ शैलेन्द्र भदौरिया ने अपना भरोसा कायम कर दिया है। उन्होंने सेंटर को आगे बढ़ाने हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

विधायक ने खनिज मंत्री से मेडिकल कॉलेज का निर्माण जल्द करवाने की मांग भी उठाई। डॉ एमपीएन खरे ने कहा कि हार्ट पेशेंट के लिए इस तरह की सुविधा का शुभारम्भ छतरपुर का सौभाग्य है। इसकी जरूरत न केवल आम नागरिकों बल्कि डॉक्टरों तक को है। प्रारंभ में केन मेडिकल सेंटर के संचालक डॉ शैलेन्द्र भदौरिया ने सेंटर में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी देते हुए कहा कि वे यहां पैसा कमाने नहीं बल्कि आप सबका भरोसा कमाने आए हैं। पैसा ही कमाना होता तो अमेरिका में कमा लेते लेकिन बुंदेलखंड का होने के नाते क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी को देखते हुए उन्होंने यहां सेवा करने का निश्चय किया। समीर गोस्वामी ने सेंटर में मुहैया सुविधाओं की जानकारी देने के साथ ही डॉ शैलेन्द्र भदौरिया के बारे में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम का संचालन पत्रकार रविंद्र अरजरिया ने किया जबकि योगेंद्र भदौरिया ने आभार जताया। 

अरविन्द जैन

संपादक, बुंदेलखंड समाचार अधिमान्य पत्रकार मध्यप्रदेश शासन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!