डेली न्यूज़मध्यप्रदेश

दर्दनाक हादसा: शार्ट सर्किट से भड़की आग में एक मासूम सहित दो महिलाओं की मौत

जबलपुर के केेंट विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत बिलहरी में देर रात हुए दर्दनाक हादसे ने सबको झंकझोर के रख दिया।यहां पिंक सिटी नामक आवासीय कालोनी में शार्ट-सर्किट से आग लगने के कारण एक मासूम और दो महिलाओं की जलने और दम घुटने से मौत हो गई। वहीं 70 वर्षीय महिला और वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड (WCL) में तैनात उसके बेटे को कॉलोनी के गार्ड और आसपास के लोगों ने बचा लिया। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर एसपी, नगर निगम कमिश्नर सहित फायर ब्रिगेड का अमला पहुंचा था।

गोराबाजार पुलिस के मुताबिक गुरुवार 5 अगस्त की देर रात 2 बजे के लगभग की ये घटना है। पिंक सिटी गेट नंबर तीन के अंदर बीच कॉलोनी में मकान नंबर 78 में ये दुखद हादसा हुआ। मकान डब्ल्यू सी एल में तैनात प्रोटोकाॅल इंस्पेक्टर आदित्य सोनी की है। गुरुवार रात को वह घर पर थे। भूतल सहित प्रथम मंजिल का ये मकान बना है। भूतल में उनकी 70 वर्षीय मां कैंसर पीड़िता अनुराधा सोनी किचिन के सामने लगे बेडरूम में सो रही थी। वहीं आदित्य, उनकी पत्नी नेहा सोनी (32), भोपाल निवासी बहन रितु सोनी (37) भांजी परी उर्फ अन्विष्टा सोनी ( 7) प्रथम तल पर सो रहे थे।

कॉलोनी के गार्ड ने देर रात ढाई बजे आदित्य सोनी के मकान में आग देख शोर मचाया। कॉलोनीवासियों के साथ वह पहुंचा तो 70 वर्षीय अनुराधा सोनी चीख रही थी। सामने आग लगी हुई थी, जो फैल कर प्रथम मंजिल तक पहुंच गयी थी। वहीं बालकनी से आदित्य सोनी चीख रहे थे। लोगों ने मां-बेटे को किसी तरह निकाला। पर नेहा, रितु और परी कमरे में ही फंस गईं। नेहा बचने के लिए बाथरूम में छुप गई थी, लेकिन धुआं और आग की गरमी ने जान ले ली। नेहा की लाश बाथरूम में मिली। वहीं रितु और परी की लाश बेड पर पड़ी थी।

रात 2.39 बजे फायर ब्रिगेड को सूचना मिली थी। ड्राइवर अजय कुमार शर्मा दल के साथ मौके पर पहुंचे और आग बुझाई। आग बुझने के बाद लोग अंदर पहुंचे तो तीनों की लाश मिली। सूचना पर गोराबाजार टीआई सहित केंट सीएसपी भावना मरावी, एएसपी गोपाल खांडेल, एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, विधायक केंट अशोक रोहाणी, नगर निगम कमिश्नर संदीप जीआर, नायब तहसीलदार नीरज कथरिया, एफएसएल डॉ. सुनीता तिवारी और फायर ब्रिगेड प्रभारी कुशाग्र ठाकुर पहुंचे थे।

घटना को देखते हुए मौके पर पुलिस बल तैनात किया गया है। तीनों शवों को मेडिकल कॉलेज की मरचुरी भिजवा दिया गया है। वहीं 70 वर्षीय अनुराधा सोनी की तबियत खराब होने पर निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आदित्य सोनी की एक बहन वर्षा सोनी आस्ट्रेलिया में रहती हैं। बहन रितु और भांजी परी 10 दिन पहले ही भाई के घर आए थे। पत्नी, बहन व भांजी की मौत से आदित्य सोनी बदहवास से हो गए हैं। मां अनुराधा सोनी को अभी तीनों मौतों के बारे में नहीं बताया गया है।

अरविन्द जैन

संपादक, बुंदेलखंड समाचार अधिमान्य पत्रकार मध्यप्रदेश शासन

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!